DocsApp
· 1 min read

सकारात्मक रहने के 6 तरीके

सकारात्मक रहने के 6 तरीके

कहते हैं कि हमारी सोच हमारी ज़िन्दगी की दिशा का निर्णय लेती है | जैसे होंगे विचार वैसा ही होगा हमारा कल | कहने का मतलब यह है कि अच्छी और सकारात्मक सोच रखने वालो को ज़िन्दगी हमेशा खुशहाल और खूबसूरत नज़र आएगी | और इसी के विपरीत, नकारात्मक सोच हमें ज़िन्दगी में सिर्फ ख़ामियाँ ही दिखाएगी|
हमारे विचारों में एक अजीब सी ताकत है जो असंभव को भी संभव कर सकती है | लेकिन ऐसा केवल तभी मुमकिन हो सकता है जब आप ज़िन्दगी में सकारात्मकता को जगह दें | हमेशा याद रखें कि नकारात्मक सोच से किसी का भी भला नहीं हुआ |

अपनी सोच को बदलना कोई रातभर का काम नहीं है,इसमें समय लगता है | तो इसलिए समय लीजिए और अपनी सोच और विचारों को एक नया रूप | आपके काम को आसान करने के लिए नीचे आप पढ़ेंगे ज़िन्दगी में सकारात्मकता को लाने के 6 तरीके :

  1. अपने विचारों को बदलें
    ज़िन्दगी में सफलता का राज़ है हमारे विचार | आज एक इंसान सफल इसलिए है क्यों कि उसने मेहनत के साथ अपने विचारों पर भी लगातार काम किया | यदि आप हालातों के आगे हार मान जाएगें तो सफलता का मिलना थोड़ा मुश्किल है | हर इंसान के लिए ज़रूरी है कि वह हर हालात में सकारात्मक रहे और अच्छे पलों का इंतज़ार करे |

  2. सकारात्मक और नकारात्मक का अंतर जानिए
    एक विचार आपकी ज़िन्दगी बदल सकता है, तो क्यों ना सिर्फ अच्छा ही सोचा जाए | कहते हैं कि पूरे दिन में से कही गई एक बात सच होती है, यह शायद आप महसूस भी कर चुके होंगे | जब आप इस बात से वाकिफ़ हैं तो फिर सोचिए यदि आप अच्छे विचारों को अपने करीब रखेंगे तो ज़िन्दगी में अच्छे पल आने की उम्मीद बनी रहेगी | उदाहरण के लिए : अगर आप खुद का मकान खरीदना चाहते हैं, तो हर दिन बस खुद को अपने घर में महसूस कीजिए, सोचिए की उसकी दीवारों का रंग का क्या होगा, किस प्रकार से आप उसे सजाएंगे और बहुत कुछ | कहने का मतलब यह है कि अगर जीवन में अच्छा सोचेंगे तो ज़िन्दगी भी आपको वही सब देने की कोशिश में जुट जाएगी |

  3. सुबह से ही कीजिए शुरुआत
    हमारे दिन की शुरुआत काफी बातों पर प्रभाव डालती है | जैसे की ट्रैफिक में फसेंगे या नहीं, दफ़्तर समय पर पहुँचेंगे या नहीं, कैब बुक होगी या नहीं आदि | ठीक उसी तरह सुबह उठने के बाद हमारे मन के विचार भी हमारे पूरे दिन पर प्रभाव डालते हैं | सुबह उठते ही यह सोचिए की जो भी अधूरे काम हैं वे सब आज पूरे होंगे, आज समय पर आप काम पर पहुँचेंगे, आज अच्छी कमाई होगी और बहुत कुछ | आपकी सोच और विचारों पर केवल आप ही नियंत्रण बना सकते हैं | प्रातकाल से ही अच्छे विचारों को मन में लाइए और महसूस कीजिए अपनी दिनचर्या में बदलाव | यकीन ना हो तो कल ही आज़मा कर देख लीजिए |

  4. याद रखें की और भी हैं तरीके
    जीवन में नकारात्मकता का अहम कारण हैं - हमारे कामों का ना हो पाना | कितनी बार पूरी महेनत के बाद भी हमारे काम बन नहीं पाते और ऐसे में हम निराश होकर सारी उम्मीदें छोड़ देते हैं | हमेशा याद रखें समय के अनुसार ज़िन्दगी में सारे काम बनेंगे | आज असफल होने के कारण, कल भी असफल ही होंगे यह मान लेना सबसे बड़ी बेवकूफी है | कोशिश और मेहनत हमेशा रंग लाती है और इन दोनों को चाहिए आपकी सकारात्मक सोच का साथ | बस फिर आप खुद देखेंगे कि सारे काम पूरे हो रहे हैं |

  5. शब्दों का कीजिए सही चुनाव
    “ काश ! विदेश में नौकरी मिल जाए ” “ एक दिन विदेश में नौकरी ज़रूर मिलेगी ”
    इन दोनों वाक्यों में अंतर आप देख ही सकते हैं | दोनों में बात विदेश में नौकरी की ही हो रही है, लेकिन एक सिर्फ एक सोच है और एक पक्का सकारात्मक इरादा | तभी कहा जाता है - जिनके इरादे मज़बूत हों उन्हें कोई नहीं रोक सकता |
    अपने शब्दों का चुनाव इस तरह कीजिए की जो भी कहें वह पोसिटिव ही हो और ऐसा होना तभी मुमक़िन है जब आप अपनी सोच में बदलाव लाएगें | क्यों कि अगर सोच होगी सकारात्मक तभी तो आपके शब्द और काम भी होंगे सकारात्मक |

  6. तुलना करना छोड़ दीजिए
    अपनी ज़िन्दगी और स्तिथि की तुलना दूसरों से करना छोड़ दीजिए | क्यों कि हम किसी को शायद उसके आज के बलबूते पर जानते हैं, लेकिन उसके द्वारा की गई मेहनत का हमें कोई अंदाजा भी नहीं है | आप अपने आज को देखकर अपनी तुलना किसी और से कर रहे हैं, क्या पता आपके आने वाला कल ऐसा हो जिसकी आपने कभी कल्पना भी ना की हो | \

यदि आप किसी सफल इंसान से अपने आज की तुलना करते हैं तो आप ना केवल खुद को उससे कम आंक रहे हैं बल्कि आप फिर अपने बारे में नकारात्मक विचार ला रहे हैं | अगर किसी के जैसा बनना है, तो अपना समय उसके जैसा बनने में लगाएं ना कि इस बात में कि वह इंसान आपसे कितना सफल है और कितनी उचाईयों पर है |

उम्मीद है कि इस लेख को पढ़ने के बाद आप अपने जीवन और विचारों में थोड़ा सा बदलाव लाने की कोशिश करेंगे | हमेशा याद रखिए हमारी सोच ही हमारे जीवन का राह बनाती है, अब यह सोचना आपको है की - आप किस तरह की सोच को अपने जीवन में रखना चाहते हैं |

डॉक्सऐप!
आपके स्वास्थ्य के लिए सदा आपके साथ