DocsApp
· 1 min read

बालों के झड़ने के कारण एवं बचाव

बालों के झड़ने के कारण एवं बचाव

बालों का गिरना एक बहुत ही सामान्य स्थिति है और ज्यादातर लोगों को अपने जीवनकाल में इससे जूझना पड़ता है | बाल एक विशिष्ट विकास चक्र का पालन करते हैं जिसके कारण 50-100 बाल रोज़ाना टूटते हैं जोकि एक सामान्य स्थिति है | लेकिन अगर आपकी कंघी बालों से भरी हुई होती है और आपके सिर में गंजापन दिखाई देने लगता है तो यह समस्या गंभीर हो सकती है |

बालों का गिरना सिर्फ़ एक कॉस्मेटिक समस्या नहीं है अपितु अनुवांशिक और शारीरिक एवं हार्मोनल असंतुलन भी इसका कारण होता है

बाल मुख्यत: केराटिन नामक प्रोटीन से बने हुए होते हैं जो त्वचा की बाहरी परत के हेयर फॉलिकल में उत्पादित होता है | जैसे-जैसे व्यक्ति बूढ़ा होता है , उसके बालों के विकास की दर गिरती जाती है |
बालों का गिरना , जिसे एलोपेसिया भी कहा जाता है मुख्यतः निम्न प्रकार के होते हैं

इन्वोल्युश्न्ल एलोपेसिया : यह एक प्राकृतिक स्थिति होती है जिसमें बाल उम्र के साथ कम होते जाते हैं

एण्ड्रोजेनिक एलोपेसिया : यह एक अनुवांशिक स्थिति होती है , जिसमें मेल पैटर्न के अनुसार गंजापन होता है

एलोपेसिया ऐरीटा : इस स्थिति में बच्चों और युवाओं के अचानक से बाल झड़ने शुरू हो जाते हैं , इस स्थिति के परिणामस्वरूप पूर्ण गंजापन भी हो सकता है | लेकिन इस स्थिति में कुछ लोगों के बाल कुछ सालों के भीतर वापस आ जाते हैं

एलोपेसिया यूनिवर्सलीज़ : इस स्थिति में पूरे शरीर के बाल गिर जाते हैं जिसमें भौहें और पलकें भी शामिल होती हैं |

फीमेल पैटर्न गंजापन : यह महिलाओं में होने वाला एक विशिष्ट प्रकार का हेयर फॉल है , महिलाओं में एण्ड्रोजेनिक एलोपेसिया गंजापन का कारण बनता है , जिसके परिणामस्वरूप बालों के झड़ने में वृद्धि और सिर में बालों के घनत्व में कमी आती है

बालों के गिरने के सामान्य कारण :

हार्मोन : एण्ड्रोजन का असामान्य स्तर बालों के गिरने का कारण बनता है |

जीन : माता-पिता के जीन बच्चों में बालों के गिरने का कारण बनते हैं |

फंगल इन्फेक्शन : रिंगवार्म संक्रमण बालों के झड़ने का संभावित कारण बनता है |

दवाएं : कीमोथैरिपी , रक्तचाप और गर्भपात की दवाएं भी बालों के गिरने का बहुत बड़ा कारण बनती हैं

ऑटोइम्यून डिजीज : कभी-कभी अज्ञात कारणों से प्रतिरक्षा प्रणाली बालों के रोम को प्रभावित करती है , जिसके परिणामस्वरूप गंजापन होता है | आमतौर पर ऐसे मामलों में , बाल समय के साथ वापिस आ जाते हैं

कॉस्मेटिक प्रक्रियायें : कॉस्मेटिक उत्पादों जैसे कि शैम्पू और डाई का प्रयोग करना बालों के पतलेपन का कारण बनता है

चिकित्सीय स्थिति : कुछ बीमारियां जैसे कि थाइरोइड , डायबिटीज , आयरन की कमी और एनोरेक्सिया बालों के गिरने का कारण बनती हैं |

खानपान : प्रोटीन की कम मात्रा वाले और कम कैलोरी वाले आहार अस्थायी रूप से बालों के झड़ने का कारण बनते हैं |

मानसिक तनाव : मानसिक या भावनात्मक तनाव बालों के गिरने का कारण बनता है , कुछ मामलों में शारीरिक तनाव भी बालों के गिरने का कारण है |

बालों को गिरने से कैसे बचायें ?

  • हेयर ड्रायर और अन्य डिवाइसों का कम से कम इस्तेमाल करें
  • हेयर डाई का इस्तेमाल नियमित रूप से ना करें , इसके रासायनिक तत्व बालों के लिए बहुत हानिकारक होते हैं जो आपके बालों को अत्यधिक नुकसान पहुँचा सकते हैं |
  • बालों के झड़ने का कारण बनने वाले संक्रमणों को रोकने के लिए नियमित रूप से हल्के शैम्पू से बालों को धोएं
  • अपने खानपान में आयरन , प्रोटीन , बायोटिन , ओमेगा-3 फैटी एसिड , और विटामिन से समृद्ध आहार को शामिल करें
  • एसपारटेम जैसे कृत्रिम मिठास की खपत को कम करें जिसे बालों के पतलेपन और झड़ने के कारणों के रूप में उद्धृत किया गया है

यदि आप एक अप्रत्याशित पैटर्न में बालों को खो रहे हैं तो जल्द ही किसी विशेषज्ञ से सलाह लें , हमारे विशेषज्ञ से मात्र 30 मिनटों में डॉक्सएप्प की मदद से बात करें |