DocsApp
· 1 min read

कीजिए अपना वज़न नियंत्रण अब डॉक्सऐप के साथ

कीजिए अपना वज़न नियंत्रण अब डॉक्सऐप के साथ

अपने वज़न को नियंत्रण में रखना, स्वस्थ जीवन की ओर पहला कदम है | वज़न नियंत्रण के लिए आपको अपने खान-पान के साथ व्यायाम पर भी बराबर का ध्यान देना होता है, ताकि आपका शरीर स्वस्थ रहे |

वज़न कम करना

वज़न कम होने के दो कारण हैं - या तो कुपोषण और या फिर जब आप खुद वज़न कम करने के लिए प्रयत्न कर रहे हों |

वजन बढ़ना

वज़न बढ़ना मतलब आपके शरीर का वज़न बढ़ना | यदि आपके शरीर में फैट (वसा) की मात्रा बहुत बढ़ जाए तो आप मोटापे का शिकार हो जाएगें | हमारे शरीर में फैट (वसा) की अधिक मात्रा बेहद हानिकारक है| बॉडी मास इंडैक्स (बी एम आई ) हमारी लम्बाई के हिसाब से हमारा वज़न कितना होना चाहिए यह बताता है |

व्यायाम का प्रभाव

व्यायाम आपकी वज़न नियंत्रण में मदद करता है | जब भी आप किसी प्रकार कि शारीरिक गतिविधि करते हैं, आप अपनी कैलोरी कम करते हैं | जितनी ज्यादा मेहनत उतनी ही ज्यादा कैलोरी कम होंगी | व्यायाम की मदद से आप एक स्वस्थ और कुशल जीवन जी सकते हैं |
व्यायाम अतिरिक्त वजन को अपने निश्चित अनुपात में बनाये रखने में मदद करता है | जब आप किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि में संलग्न होते हैं , तो आप कैलोरी जलाते हैं | यह आपको एक स्वस्थ और खुशहाल जीवन जीने में मदद करता है

आप क्या खा रहे हैं ?

आप जो भी खाते हैं उसमें पोषण छिपा होता है | हर व्यक्ति का खान-पान का तरीका और चुनाव अलग हो है | खाना खाने के बाद आपका शरीर खाने के ज़रूरी तत्व जैसे कि- विटामिन, मिनरल, प्रोटीन, फैट्स आदि को सोख लेता है, और आपको उसी ऊर्जा मिलती है | आप किस प्रकार का खाना खाते हैं , उसका आपकी ज़िन्दगी पर गहरा असर पड़ता है |

योग को आज़मा कर देखिए
योग भी व्यायाम की तरह वज़न नियंत्रण में सहायक है | बड़े बड़े योगियों के हिसाब से सूर्योदय से 2 घंटे पहले का समय योग के लिए सर्वोत्तम है | आप योग करने से पहले नहा भी सकते हैं | कोशिश कीजिए की बिना कुछ खाए पिए ही योग करें | यदि खाना खाने के नाद योग कर रहे हैं, तो खाना खाने के 3 घंटे बाद योग करें, अगर प्यास लगे तो आप पानी पी सकते हैं |

डायबिटीज और आपका वज़न
टाइप 2 डायबिटीज होने के अनेक कारण हैं जैसे कि - बढ़ती उम्र, गर्भावयस्था, तनाव , अनुवांशिक कारण, उच्च कोलेस्ट्रॉल स्तर , मोटापा आदि | लेकिन इन सभी कारणों में से सबसे आम है मोटापा | लगभग 90% डायबिटीज के मरीज़ मोटापे के शिकार हैं | ज़्यादा वज़न की वजह से हमारे शरीर में इन्सुलिन का नियंत्रण बिगड़ जाता है और इसी कारण डायबिटीज होती है |

बीपी और आपका वज़न
यदि आपका वज़न नियंत्रण में है तो आपको बीपी की बिमारी होने का खतरा कम है| मोटापे का मतलब है इन्सुलिन से छेड़छाड़ , जिसकी वजह से खून में शुगर का स्तर बढ़ जाता है |

पीसीओएस/पीसीओडी/थाइरोइड और आपका वज़न
थायरोइड और पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस ) महिलाओं में होने वाली दो सबसे ज्यादा आम बीमारियों में से हैं | यह आपके शरीर की प्रक्रिया को धीमा कर देता है, जिसके कारण वज़न बढ़ जाता है और फिर दूसरी परेशानियां शुरू हो जाती हैं |

आपके स्वास्थ्य के लिए हर वक़्त आपके साथ !