Tamoghna Biswas
Sr Software Engineer, DocsApp
· 1 min read

जानिए क्यों ज़रूरी है 7-8 घंटों की नींद ?

जानिए क्यों ज़रूरी है 7-8 घंटों की नींद ?

नींद ना सिर्फ हमारी आँखों  को आराम देती है बल्कि हमारे पूरे स्वास्थ्य के लिए उपयोगी है | एक अच्छी नींद आपकी दिनभर की थकान दूर करके आपको नए दिन के लिए तैयार करती है | जैसे की एक मशीन को लगातार इस्तेमाल करने से वह खराब हो जाती है, ठीक वैसे ही इंसान अगर बिना नींद के रहे तो वह बेहद बीमार पड़ सकता है |
आप जिस तरह की नींद लेते हैं, उससे आपके स्वास्थ्य का पता चलता है |  क्या आपने कभी ध्यान दिया है, कि जब भी हम किसी डॉक्टर के पास जाते हैं तो डॉक्टर हमसे “आपको नींद कैसी आती है ?” यह सवाल ज़रूर पूछते हैं | ऐसा इसलिए क्यों कि हमारा स्वस्थ होना हमारी नींद पर निर्भर करता है |
आज लोग अपनी नींद सोशल नेटवर्किंग के लिए कुर्बान करने में व्यस्त हैं | हम सभी नींद के महत्व को अनदेखा करने में लगे हुए हैं, शायद लोगों के बर्ताव और बदलते मिजाजों का यह भी एक कारण है |
चलिए जानते हैं कि नींद ना आने के क्या दुष्प्रभाव हो सकते हैं :

1. पड़ सकता है दिल का दौरा
ऐसा देखा गया है कि जिन लोगों को भरपूर नींद नहीं आती उन्हें दिल की बीमारियाँ होने की संभावना बढ़ जाती है | एक अच्छी और गहरी नींद लेना आपकी दिल की सेहत के लिए बेहद ज़रूरी है |

2. थकान
यह तो आपने खुद महसूस किया ही होगा की अगर रात को नींद ना आए तो उसका सीधा असर आपकी चुस्ती और स्फूर्ति पर पड़ता है | थकान अनिंद्रा का मुख्य दुष्प्रभाव है | थके थके रहने से बचना है तो जल्दी सोने की कोशिश करें |

3. चिड़चिड़ापन
नींद पूरी ना होने के कारण आपके दिन की शुरुआत चिड़चिड़ेपन के साथ होती है | आप पूरे दिन चिड़चिड़े और गुस्से से भरे रहेंगे | इसका कारण पिछले दिन की थकावट भी होता है, जो नींद ना आने के अब भी  कारण बरकरार है |

4. बेजान त्वचा
आँखों के नीचे काले घेरे, बेजान त्वचा ये भी हैं अनिंद्रा के दुष्प्रभाव | जब आप अच्छी नींद लेते हैं तो सुबह आपकी त्वचा दमकती हुई मिलती है क्यों की सोते समय आपकी त्वचा में नमी बढ़ती है | इसी के विपरीत नींद पूरी ना होना बना देता है आपकी त्वचा को रूखा और बेजान |

5. एकाग्रता की कमी
नींद का असर हमारे दिमाग पर भी पड़ता है और इसी कारण नींद हमारी एकाग्रता को भी प्रभावित करती है | इसलिए कहा जाता है कि परीक्षा की पहली रात अपनी नींद अच्छे से लें ताकि पेपर लिखते समय आप पूरा ध्यान लगा पाएं | नींद ना आने के कारण आप अपना ध्यान एक जगह केंद्रित कर पाना अक्सर लोगों के लिए मुश्किल हो जाता है |