DocsApp
· 1 min read

छोटे भी अच्छे हैं !

छोटे भी अच्छे हैं !

बड़े हैं तो अच्छे हैं ! यह काफी सुना सुना लगता है, है ना ?

लगभग हम सभी जानते हैं की इस वाक्य का इस्तेमाल किस संदर्भ में किया जाता है | अगर फिर भी आप नहीं जानते तो मैं हम बताते हैं, बड़े हैं तो अच्छे हैं - स्त्रियों के स्तनों के बारे में ऐसा कहा जाता है | कहते हैं कि पुरुषों को बड़े स्तन काफी उत्तेजित करते हैं और स्तन ही पुरुषों को स्त्रियों की ओर सबसे पहले आकर्षित करते हैं |

पर आज हम बात करेंगे छोटे स्तनों की | जी हाँ ! छोटे स्तन जिन्हें अक्सर अनदेखा कर दिया जाता है और स्त्रियों में एक शारीरिक कमी समझा जाता है | पर अब बहुत हुआ | चलिए आज बात करते हैं छोटे स्तनों और उनकी अहमियत की, और दूर करते हैं सारी गलतफैमियां |

छोटे स्तनों की बात करें तो वे महिलाओं के काफी बड़े सहायक होते हैं | हमेशा महिलाओं की मदद करने को तैयार | छोटे स्तन वाली महिलाओं की ओर पुरुष उनके व्यवहार और व्यक्तित्व को देखकर आकर्षित होते हैं, इसमें उनके स्तनों का कोई हाथ नहीं होता | यदि आप किसी पुरुष के साथ डेट पर हैं, और अगर आपके स्तन छोटे हैं तो वह आप में और आपकी बातों पर ज़्यादा ध्यान देगा ना कि आपके स्तनों पर | और शायद मर्दों के मामले में ज़्यादातर महिलाएं यही चाहेंगी कि वे उनके व्यक्तित्व से प्यार करें, ना की केवल उनकी यौन और बाहरी ख़ूबसूरती से |

चलिए अब बात करते हैं छोटे स्तन और उनके 6 फायदों की |

ये अपनी जगह पर ही रहते हैं !
जी हाँ ! छोटे स्तन आपको ज़्यादा परेशान नहीं करेंगे, वे एक जगह ही रहना पसंद करते हैं | भारी या बड़े स्तनों वाली महिलाएं अपने स्तनों के लटकने की वजह से काफी परेशान रहती हैं | देखने वालों को कितना भी आकर्षक नज़ारा लगे, लेकिन उस नज़ारे को संभाल के रखना आसान नहीं |
लेकिन छोटे स्तन आपको ऐसी किसी भी शिकायत का मौका नहीं देंगे | वे खुद भी संभालना जानते हैं, ब्रा के बिना भी !

खेलकूद में भी देंगे अपना योगदान !
चाहे पुरुष हों या महिलाएं, हम सभी ने इस बात पर गौर किया होगा | जब भी बड़े और भारी स्तनों वाली महिला खेल कूद कर रही होती है, तो कुछ और भी उछल रहा होता है | इसी कारण बहुत बार महिलाओं के लिए खेल कूद में भाग लेना या खेल को खेलना मुश्किल हो जाता है |
लेकिन क्यों कि आपके तो छोटे हैं, तो आप इस परेशानी से भी दूर हैं और बिना किसी झंझट के खेल-कूद भी कर सकती हैं |

आपको उत्तेजित करने में भी है इनका ही हाथ !
यूनिवर्सिटी ऑफ़ विएना में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, छोटे स्तन बड़े स्तन के मुकाबले 24% ज़्यादा संवेदनशील होते हैं | जिसका मतलब है कि पुरुषों की राय में जो भी हो, लेकिन अगर सवाल आपके यौन सुख का है तो आपके छोटे स्तन अभी भी आपका ही साथ देंगे | तो क्या अभी भी आप सोच रही हैं की काश आपके स्तन भी बड़े होते ?

ब्रा की खरीदारी भी होगी फैशन से भरी !
किसी बड़े शोरूम से ब्रा खरीदना भी तभी सुखद लगता है, जब आपको अपने मनचाहे डिज़ाइन और रंग की ब्रा मिल जाए | जी हाँ ! छोटे स्तनों के लिए तो ब्रा के डिज़ाइनों की भी लाइन लगी हुई है | मनचाहा रंग, डिज़ाइन सब कुछ उपलब्ध है | पैडेड, पुश-अप, ब्रालेट, हाफ कप और ना जाने क्या क्या | और वहीं बड़े स्तन वाली महिलाओं को ब्रा खरीदते हुए भी सोचना पड़ता है | डिज़ाइन तो सीमित हैं ही, बल्कि कीमत भी ज़्यादा है |

मिलेगा आपके मन को प्यार करने वाला !
इस बात में तो कोई शक़ नहीं, की मर्दों को बड़े और भारी स्तनों वाली महिलाएं ज़्यादा उत्तेजित करती हैं | लेकिन छोटे स्तन वाली महिलाएं यह यकीन के साथ कह सकती हैं कि उन्हें चाहने वाला अन्य मर्दों से अलग है | क्यों कि उनके मन और व्यक्तित्व में कुछ ऐसा था कि छोटे स्तन होने के बावजूद वह पुरुष उनसे सच्चा प्रेम करता है |

आपके स्तन नहीं बनेंगे कमर दर्द का कारण !
अध्ययनों के हिसाब से, बड़े स्तन वाली महिलाओं के कमर दर्द का कारण अक्सर उनके भारी स्तन होते हैं, क्यों की सीने के पास इतना वज़न होने के कारण दिन के आखिर में उन्हें कमर दर्द होना स्वाभाविक है | एक समय के बाद कमर की दिक्क्तें सामने आने लगती हैं और बड़े स्तनों की वजह से आपके शरीर का ढांचा भी बिगड़ने लगता है | लेकिन छोटे स्तनों की वजह से ऐसी कोई परेशानी सामने नहीं आती |

क्या अब भी आपको अपने छोटे स्तनों की वफादारी का कोई और सबूत चाहिए ?

उम्मीद है कि इसे पढ़ने के बाद अब आप खुद को अन्य महिलाओं से कम नहीं आंकेगी और छोटे स्तनों को लेकर आपका आत्मविशवास अब बढ़ जाएगा |

डॉक्सऐप ! आपके स्वास्थ्य के लिए सदा आपके साथ